आषाढी पूर्णिमा वर्षावास की सुरवात

गोंदिया ,समीपस्थ ग्राम कटंगीकला बौद्धविहार में आषाढी पूर्णिमा से अश्विन पूर्णिमा तक वर्षावास का प्रारंभ बौद्ध उपासक, उपासिका को धम्म की जानकारी,धम्म साधना,धम्म प्रचार, प्रसार हेतु भिक्षु संघ द्वारा वर्षावास में धम्म कार्य किए जाते है। दिनाक ३/७/२३को प्रथम धम्म चक्र प्रवर्तन दिन के वर्षावास पर्व पर महाकारूणिक तथागत गौतम बौद्ध प्रतिमा,महामानव डॉ बाबासाहेब अम्बेडकर की प्रतिमा को माल्यार्पण कर पूजन एव वंदना की गई,कार्यक्रम अध्यक्ष श्री मनोहर बड़गे,प्रमुख अथिति श्रीमती सकुंतला कठाने,श्री वासुदेव कठाने,श्रीमतीशांताबाई बन्सोड,अनेंद्र बनसोड़, दिपक बंसोड इनकी उपस्थिति में वर्षावास प्रारंभ किया गया,इस वर्षावास कार्यक्रम में बौद्ध धम्म के नियम अनुसार जीवन भर अंत तक पालन करने का संकल्प लिया गया।कार्यक्रम में श्रीमती संघमित्रा बन्सोड़, श्रीमती कमलाबाई वैद्य,श्रीमती द्वारका मेश्राम,श्रीमती वनिता डोंगरवार,श्रीमती सत्यभामा डोंगरवार,श्रीमती परमशिला हिरकने,श्री राजेश डोंगरवार और समस्त बौद्ध उपासक, उपासिका बालक,बालीका उपस्थित रहकर वर्षावास में धम्म प्रचार प्रसार करने की अपील की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *