बच्चों के विकास मे संस्कार आवश्यक : प्रकाश हेडाऊ, अध्यक्ष- अस्तित्व फाऊंडेशन

नागपुर: कुंदनलाल गुप्ता नगर हनुमान मंदिर मे अस्तित्व फाऊंडेशन की ओर से आयोजित आठ दिवसीय संस्कार एवं व्यक्तीमत्व विकास शिबीरका समापन एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम इंजिनिअर श्रीमती विद्याजी बाकडे, रेल्वे अधिकारी श्रीमती शिलाताई कोहळे, योग शिक्षक प्रशांत जीभकाटे, अस्तित्व फाऊंडेशन के अध्यक्ष प्रकाश हेडाऊ एवं शिबीर संचालिका मंजू हेडाऊ इनकी प्रमुख उपस्थितीमे बढेही हर्षोल्हास के साथ संपन्न हुआ। कार्यक्रम की सुरूवात भारत माता को नमन कर सामुदायिक प्रार्थना के साथ दीपप्रज्वलन कर की गयी। शिबीर मे आयोजित स्पर्धाओके विजेताओ को पुरस्कृत किया गया और शिबीर मे सहभागी सभी बच्चो को शिक्षा सामुग्री, पाणी बोतल, प्रमाण पत्र और लड्डू पॅकेट मान्यवरो द्वारा भेट स्वरूप दिया गया। बच्चों द्वारा सुंदर गीत एवं प्रात्यक्षिक प्रस्तुत किये गये। इसमौके पर बच्चों के माता पिता भी बडे पैमाने पर उपस्थित थे।
श्रीमती विद्याजी बाकडे ने अपने भाषन मे बच्चों को प्रोत्साहीत करते हुये कहा की आज के इस मोबाईल के जमाने मे बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिये ऐसे शिबीरोकी जरूरत है और ऐसे समाज एवं राष्ट्रहित के कार्य अस्तित्व फाऊंडेशन की टिम निरंतर करती आ रही है, उनके कार्यो की सराहना की। बच्चों का अच्छा विकास कराने और उन्हे अच्छा मार्गदर्शन मिल सके इसलिये स्लम एरीयाके बच्चों के पालको को भी ऐसे शिबीर की जरूरत है।

आठ दिन के इस शिबीर मे बच्चों को रोज योगा, प्राणायाम, सूर्यनमस्कार, मेंटल अबीलीटी, संस्कार, दैनिक व्यवहार, सामान्य ज्ञान, चित्रकला, महापुरुषाोका जीवनचरित्र, देश हित, योग्य आहार के साथ साथ बौद्धिक विकास हेतू अनेकानेक ज्ञानवर्धक बाते बताई गयी, जिससे बच्चों का सर्वांगीण विकास हो। उनमे शिक्षा एवं खेल के प्रती रूची बढे ताकी बढे होकर उनके सपने साकार हो सके, पॉझिटिव्ह एनर्जी के विकास हेतू अलग अलग तकनिक बताई गई और उनका अभ्यास कराया गया। साथ ही पर्यावरण सुरक्षा, रोड सुरक्षा, अंधश्रद्धा निर्मूलन के बारे मे बताया गया। जिसमे प्रशांत जीभकाटे, मेघना चेडगे, चित्रा हस्तक, परमानंद बोपचे, केदारनाथ शाहु, शिला कोहळे, नेहा मुरकुटे, हेमराज हेडाऊ, तुशार देवगडे, दिपकजी खांबाळकर, मुरलीधरजी पौनीकर, शंकरराव वानखेडे, संस्था अध्यक्ष प्रकाश हेडाऊ एवं शिबीर संचालिका मंजू हेडाऊ आदी अनेक मान्यवरो द्वारा विशेष मार्गदर्शन नित्य दिन होता रहा। संपूर्ण शिबीर का संचालन मुख्य मार्गदर्शक एवं संस्था अध्यक्ष श्री प्रकाश हेडाऊ और शिबीर संचालिका सौ मंजुताई हेडाऊ द्वारा किया गया।समापन कार्यक्रमका सूत्रसंचालन प्रकाश हेडाऊ ने किया साथ जागतिक मातृदिवस के उपलक्ष मे बच्चों के जिवन सवारने मे मॉ के किरदारो एवं इस सृष्टी मे मॉ के महत्त्व को उजागर किया, आभार सौ मंजूताई हेडाऊ ने सुंदर शब्दो मे किया।शिबीर की यशस्वीता के लिये मान्यवर सचिव विशाल बोकडे, महिला मंडल सचिव श्रीमती शिलाताई कोहळे, कार्यकर्ता संजय हेडाऊ, गणेश हेडाऊ, हेमराज हेडाऊ, गणेश धकाते, नितीन गोखले, संगीता हेडाऊ, दर्शना पराते, कावेरी, मोहनिश आदी के सहयोग से सुचारू रूप से सफल हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *